Tuesday, 4 August 2015

ललित मोदी प्रकरण, व्यापमं घोटाले को लेकर राज्यसभा में गतिरोध बरकरार

नयी दिल्ली। राज्यसभा में ललित मोदी प्रकरण एवं व्यापमं घोटाले को लेकर विदेश मंत्री और दो प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के इस्तीफे की मांग पर कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष के हंगामे के कारण आज भी गतिरोध जारी रहा तथा बैठक को करीब 11 बजकर 10 मिनट पर दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया। सदन की बैठक शुरू होते ही कांग्रेस के कई सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के समक्ष आ गए। लोकसभा में कल 25 कांग्रेस सदस्यों को निलंबित किए जाने के बाद आज उच्च सदन में इस पार्टी के सदस्य बाजुओं पर काली पट्टी बांधकर आए थे।
कांग्रेस के सदस्य आसन के समक्ष आकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। दो सदस्यों ने दो अलग अलग पोस्टर ले रखे थे जिनमें से एक पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और अन्य पर राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की तस्वीर थी एवं उस पर भी नारे लिखे थे। हंगामे के बीच ही उपसभापति पी जे कुरियन ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाए। इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मधुसूदन मिस्त्री ने आसन के समक्ष आकर काला कपड़ा लहराना शुरू कर दिया।
कुरियन ने उन्हें ऐसा नहीं करने की चेतावनी देते हुए कहा कि यह करना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसा करना अनुशासनहीनता की पराकाष्ठा है तथा मिस्त्री जैसे वरिष्ठ नेता से इस तरह के व्यवहार की उम्मीद नहीं की जाती। आसन के समक्ष आज आए कांग्रेस सदस्यों में जयराम रमेश और रेणुका चौधरी जैसे पूर्व केन्द्रीय मंत्री भी थे जो विरोध जताने के लिए आमतौर पर आसन के समक्ष नहीं आते हैं।हंगामे के दौरान वाम, जदयू, सपा, तृणमूल कांग्रेस आदि दलों के कई सदस्य भी अपने स्थानों पर खड़े थे।

No comments:

Post a Comment