Tuesday, 25 August 2015

मांझी का विधानसभा से इस्तीफा, हम सेक्युलर के अध्यक्ष बने

पटना, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के आज बिहार विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिये जाने के बाद वे सर्वसम्मति से हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) सेक्युलर के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोनीत कर लिए गए। हम सेक्युलर के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने बताया कि आज यहां आयोजित हम सेक्युलर की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह द्वारा मांझी को हम सेक्युलर का राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोनीत किए जाने संबंधी प्रस्ताव लाए जाने पर उन्हें सर्वसम्मति से उक्त पद के लिए मनोनीत कर लिया गया।
मांझी ने अपने धन्यवाद ज्ञापन में अपने पार्टी सहयोगियों और कार्यकर्ताओं से राजग को सत्ता में लाने के लिए कड़ी मेहनत करने की अपील करते हुए कहा कि बिहार में नेतृत्व परिवर्तन की लहर चल रही है। उन्होंने कुछ राजनीतिक दलों पर प्रदेश में जातिवाद की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में वे वर्तमान सरकार को सत्ता से बेदखल करने और सभी समुदायों को एक साथ लाने के लिए हम सेक्युलर को नेतृत्व प्रदान करेंगे।
राजग के घटक दलों लोजपा और रालोसपा के सीटों का बंटवारा शीघ्र किए जाने की सार्वजनिक तौर पर की गयी मांग पर मांझी ने इस मुद्दे को राजग के उचित फोरम पर उठाए जाने की अपील की। इससे पूर्व मांझी ने विधानसभा पहुंचकर वहां के कार्यकारी सचिव हरेराम मुखिया को अपना इस्तीफा सौंपा। हरेराम ने मांझी द्वारा पत्र सौंपे जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि इस बारे में बिहार विधानसभा द्वारा अधिसूचना जारी की जाएगी।
छह बार विधायक रहे 70 वर्षीय मांझी वर्तमान में जहानाबाद जिला के मखदूमपुर विधानसभा क्षेत्र से जदयू के सदस्य के रूप में प्रतिनिधित्व कर रहे थे। पिछले लोकसभा चुनाव में जदयू की करारी हार की जिम्मेवारी लेते हुए तत्कालीन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देते हुए मांझी को अपना उत्तराधिकारी चुना था। जदयू विधायक दल के मांझी के स्थान पर फिर से नीतीश को अपना नेता चुन लिए जाने के बाद नौ महीने मुख्यमंत्री पद पर आसीन रहे मांझी के मुख्यमंत्री पद नहीं छोड़ने पर जदयू ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया था जिसके बाद बिहार विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने उन्हें असंबद्ध सदस्य घोषित कर दिया था।
सदन में बहुमत जुटाने के पूर्व मांझी ने गत 20 फरवरी को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद नीतीश फिर से मुख्यमंत्री पद पर आसीन हुए। बाद में मांझी ने जदयू के अन्य बागी विधायकों और नेताओं के साथ मिलकर हम सेक्युलर का गठन किया था तथा बाद में भाजपा नीत राजग में शामिल हो गए।

No comments:

Post a Comment