Tuesday, 25 August 2015

राष्ट्रीय फुटबॉल टीम की ट्रेनिंग में पहली बार जीपीएस ट्रैकर का इस्तेमाल

पुणे, भारतीय फुटबॉल टीम ने ईरान के खिलाफ 2018 विश्व कप क्वालीफाइंग मुकाबले से पूर्व शिविर के दौरा पहली बार ‘प्लेयर ट्रैकिंग सिस्टम’ का इस्तेमाल किया। टीम यहां डीएसके ड्रीम सिटी में ट्रेनिंग कर रही है। खिलाड़ियों ने अपनी बनियान के अंदर जीपीएस प्रणाली पहन रखी थी और यह काफी हद तक लियोनल मेस्सी और ज्लाटन इब्रामोविच की तस्वीरों की तरह लग रहा था जो कुछ हफ्ते पहले वाइरल हो गई थी।
जीपीएस का इस्तेमाल पहली बार राष्ट्रीय कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन के मार्गदर्शन में किया गया और इस दौरान खेल वैज्ञानिक डैनी डीगन ने पूरी प्रकिया की निगरानी की। डीगन ने कहा, ‘‘अब से हम सभी ट्रेनिंग सत्र के दौरान इसका इस्तेमाल करेंगे, यहां तक कि मैचों के दौरान भी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘फीफा ने दो महीने पहले मैच के दौरान इसके इस्तेमाल की स्वीकृति दी थी। इसके लिए सिर्फ मैच से एक दिन पूर्व मैच आयुक्त से स्वीकृति लेने की जरूरत पड़ेगी।’’

No comments:

Post a Comment